प्रेम जनमेजय

विकिपीडिया, मुक्‍त ज्ञानकोशातून
Jump to navigation Jump to search


Imbox content.png
हा विभाग/लेख सामान्य उल्लेखनीयता मार्गदर्शक तत्त्वांच्या अनुरूप नाही. कृपया या विषयाबद्दल विश्वसनीय स्रोत जोडून या लेखाची उल्लेखनीयता सिद्ध करण्यात मदत करा. जर याची उल्लेखनीयता सिद्ध केली जाऊ शकत नसेल, तर हा लेख दुसऱ्या लेखात एकत्रीत / पुनर्निर्देशित केला जाऊ शकतो किंवा थेट काढून टाकला जाऊ शकतो याची नोंद घ्यावी.


प्रेम जनमेजय (जन्म : अलाहाबाद, १८ मार्च १९४९) हे एक हिंदी विनोदी लेखक आहेत.

शिक्षण[संपादन]

एम.ए., एम.लिट्., पीएच्. डी.

प्रेम जनमेजयांनी लिहिलेली विनोदी अाणि अन्य पुस्तके[संपादन]

  • अगर ऐसा होता (बालसाहित्य)
  • अँधेरे के पक्ष में उजाला
  • अध्यक्षस्य प्रथम दिवसे
  • आत्मा महाठगिनी
  • आँधियों का मौसम
  • उजाला एक विश्वास (ललित)
  • कन्या-रत्न का दर्द
  • कविता (बाल-कविता)
  • खुदा का घड़ा (नवसाक्षरांसाठी)
  • त्रिनिडाड में छूटती पिचकारी का नया रंग (आठवणी)
  • त्रिनिडाड में दिवाली (आठवणी)
  • देखौ कर्म कबीर का (श्रुतिका)
  • नल्लुराम (बालसाहित्य)
  • पुरस्कारम् देहि
  • पुलिस! पुलिस! मैं नही माखन खायो
  • प्रसाद के नाटकों में हास्य व्यंग्य (समीक्षा)
  • बेशर्ममेव जयते
  • भ्रष्टाचार के सैनिक
  • माथे की बिंदी
  • मेरी इक्यावन व्यंग्य रचनाएँ
  • मैया, मोही विदेस बहुत भायो
  • ये पीड़ित जनम जनम के
  • राजधानी में गँवार
  • राधेलाल का कुत्ता
  • राम! पढ़ मत, मत पढ़
  • लला फिर आईयो खेलन होली (ललित लेख)
  • व्यंग्य का सही दृष्टिकोण : हरिशंकर परसाई (साहित्य परीक्षण)
  • शर्म मुझको मगर क्यों आती!
  • साकेत (श्रुतिका)
  • शहद की चोरी (बालसाहित्य)
  • हिंदी के शहीद
  • हुड़क (नवसक्षरांसाठी)
  • हे देवतुल्य ! तुम्हें प्रणाम
  • होली वाला रोबोट (बालसाहित्य)
  • क्षितिज पर उड़ती स्कार्लेट आयबिस (बालसाहित्य)

पुरस्कार व सन्मान[संपादन]

  • अवंतिका सहस्राब्दी सन्मान
  • 'इंडो रशियन लिटररी क्लब' सन्मान
  • प्रकाशवीर शास्त्री सन्मान
  • 'माध्यम' युवा रचनाकार अट्टहास सन्माान
  • युवा साहित्य मंडल सन्मान
  • युवा साहित्य मंडल - विशेष सन्मान
  • हरिशंकर परसाई स्मृति पुरस्कार
  • हिंदी अकादमी लेखक सन्मान

संदर्भ[संपादन]